Advertisements

सरस्वती वंदना

!! सरस्वती वंदना !!

हे हंस वाहिनी ज्ञान दायिनी

अम्ब विमल मति दे , अम्ब विमल मति दे ……….

जग सिर मौर बनाएँ भारत

वह बल विक्रम दे ,  अम्ब  विमल  मति  दे ………..

साहस शील ह्रदय में भर दे ,

जीवन त्याग तपोमय कर दे

संयम सत्य स्नेह का वर दे , स्वाभिमान भर दे

हे हंस वाहिनी ज्ञान दायिनी ,

अम्ब विमल मति दे , अम्ब विमल मति दे ……….

लव-कुश ,  ध्रुव  प्रहलाद  बने ,

हम मानवता का त्राश हरे हम ,

सीता सावित्री दुर्गा माँ फिर घर-घर भर दे

हे हंस वाहिनी ज्ञान दायिनी ,

अम्ब विमल मति दे , अम्ब विमल मति दे ………..

सुख एवं समृद्धि का बसंत आपके जीवन में सदैव बना रहे!

*बसंत पंचमी* की हार्दिक शुभकामनाएं

सु-प्रभात

जय श्री राम

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Archives

%d bloggers like this: